छत्तीसगढ़राज्यरायपुर

छत्तीसगढ़: लगातार कर्मचारी संघ की मांग एवं बढ़ते कोरोना संक्रमण और मृत्यु होने पर अंततः कड़ा लॉकडाउन लागू हुआ ।

प्रभा आनंद सिंह यादव ब्यूरो चीफ सरगुजा

लगातार कर्मचारी संघ की मांग एवं बढ़ते कोरोना संक्रमण और मृत्यु होने पर अंततः कड़ा लॉकडाउन लागू हुआ ।

छत्तीसगढ़ प्रदेश तृतीय वर्ग शासकीय कर्मचारी संघ ने रायपुर विकास प्राधिकरण में कोरोना ब्लास्ट तथा रजिस्ट्री ऑफिस रविशंकर विश्वविद्यालय कलेक्ट्रेट जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय प्रदेश के अनेक जिलों में भयावह स्थिति को देखते हुए लगातार लॉकडाउन की मांग की जा रही थी अंततोगत्वा जनहित में लॉकडाउन का निर्णय लिया गया है इसके लिए माननीय मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल एवं कलेक्टर रायपुर डॉ एस भारतीदासन के प्रति संघ ने आभार व्यक्त किया है!
संघ के प्रदेश अध्यक्ष विजय कुमार झा एवं रायपुर राजधानी के जिला शाखा अध्यक्ष इदरीश खान ने बताया है कि गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष मार्च माह में कोरोना की भयावह स्थिति को देखते हुए अनेक शासकीय कार्यालयों में शालाओं में शासकीय सेवकों के संक्रमित होने कोरोना गाइडलाइन का पालन न होने अनेक शासकीय सेवकों या छत्तीसगढ़ की जनता के निधन होने के बाद अस्पतालों में बेड व स्वास्थ्य सुविधा न मिलने मृत्यु उपरांत अंतिम संस्कार भी दो-तीन दिन में होने की पीड़ा से चिंतित होकर लगातार लॉकडाउन की मांग करती रही है रायपुर विकास प्राधिकरण में 2 कर्मचारी नेता के दिवंगत होने तथा 34 कर्मचारियों के पाजिटिव्ह होने खैरागढ़ ब्लॉक में 5 शिक्षकों के निधन होने रायपुर के शासकीय अभिभाषक श्री के के शुक्ला जी के पत्नी का दुखद निधन होने कलेक्टर कार्यालय में 5 शाखाओं के सील बंद होने खाद्य शाखा में पॉजिटिव मिलने जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय में 7 कर्मचारियों के संक्रमित होने के कारण कार्यालय सील होने विधानसभा एवं विधि विभाग इंद्रावती भवन का श्रम आयुक्त कार्यालय भी सील होने एवं मंत्रालय के विधि विभाग में 1 सहायक ग्रेड 2 के निधन होने से कर्मचारी संघ अत्यंत चिंतित व पीड़ित था गत वर्ष भी कोरोना संक्रमण से मृत शासकीय सेवकों के परिजनों को केंद्र और राज्य सरकार से कोई आर्थिक मुआवजा तो नहीं मिला मृत्यु उपरांत अनुकंपा नियुक्ति पर भी 10% की सीमा बंधन होने के कारण अनुकंपा नियुक्ति नहीं मिला था आज इन सब परिस्थितियों में लॉकडाउन का निर्णय समसामयिक निर्णय है अब प्रदेश के शासकीय सेवक चुनाव ड्यूटी जैसे 24 घंटे कोरोना संक्रमण से पीड़ित छत्तीसगढ़ग की जनता की सेवा करेंगे कर्मचारी संघ की मार्मिक अपील है कि पुलिस विभाग राजस्व विभाग स्वास्थ्य विभाग शिक्षा विभाग के जो कर्मचारी को कोरोना ड्यूटी धमकी चमकी के साथ नहीं बल्कि बड़े स्नेह सम्मान व मानवीय संवेदनाओं व व्यवहार के साथ इन जान में जोखिम डाल कर कोरोना ड्यूटी को संपादित कराया जाए निलंबन बर्खास्तगी की धमकी देकर स्वास्थ्य कर्मचारियों के अवकाश को निरस्त कर कोरोना ड्यूटी कराए जाने के प्रयास से कर्मचारी हतोत्साहित व दुखी होंगे संघ ने मुख्यमंत्री से यह भी मांग की है कि कोरोना योद्धाओं को आर्थिक मुआवजा कर्मचारियों व उनके परिवार को निशुल्क चिकित्सा सुविधा व निधन होने पर 50 लाख का बीमा व बिना किसी शर्त के अनुकंपा नियुक्ति देने का भी प्रावधान करना चाहिए ताकि लोग अपने परिवार की सुरक्षा से निश्चिंत होकर केवल करोना का ड्यूटी तन मन धन से संपादित करेंगे क्योंकि प्रदेश के सभी शासकीय सेवक लोक सेवक हैं जनता के सेवक हैं इसलिए जनता की सेवा करने के लिए हम सब कृत संकल्पित हैं!
विजय कुमार झा,प्रदेश अध्यक्ष

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
LIVE OFFLINE
track image
Loading...
Close
Close