छत्तीसगढ़ताजा ख़बरेंबेमेतराब्रेकिंग न्यूज़राज्य

दो दिसम्बर को मतगणना की रिहर्सल,तीन लेयर में रहेंगी सुरक्षा व्यवस्था

दो दिसम्बर को मतगणना की रिहर्सल,तीन लेयर में रहेंगी सुरक्षा व्यवस्था

hotal trinatram
Shiwaye
nora
899637f5-9dde-4ad9-9540-6bf632a04069 (1)

अभ्यार्थी, निर्वाचन अभिकर्ताओं को मतगणना की तैयारियों से अवगत कराया, तीसरी आँख करेंगी मतगणना की निगरानी

तीन तारीख को सुबह आठ बजे गोपनीयता की शपथ के साथ प्रारंभ होगी मतगणना

nora
Shiwaye
hotal trinatram
durga123

बेमेतरा – जिलेें की तीनों विधानसभा क्षेत्र आगामी तीन दिसम्बर को होने वाली मतगणना को लेकर आज यहां कलेक्ट्रेट के दिशा विधानसभा अभ्यार्थी, निर्वाचन अभिकर्ता एवं गणना अभिकर्ताओं तैयारियों की जानकारी दी गयी। बाद में उन्हें कोषालय स्ट्रॉंग रूम में कड़ी सुरक्षा में सुरक्षित रखें ईटीपीबीएस/डाक मतपत्र का अवलोकन कराया।
कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी पीएस एल्मा ने जानकारी देते हुए बताया कि विधानसभा समान्य निर्वाचन-2023 मतदान समाप्ति के बाद मतगणना की तैयारियों पूरी व्यवस्थित ढंग से की जा रही हैं। हर एक-एक चीज को बारीकी से गहन निरीक्षण और परीक्षण के बीच से गुजरना पड़ रहा हैं। गलती की कोई गुंजाईश ना हो, इसलिए पूरी सावधानी से पूरी तैयारियों को अंजाम दिया जा रहा हैं। रोजाना जिला और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के साथ मतगणना स्थल पर चल रही तैयारियों को निरीक्षण किया जा रहा हैैं। उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि मतगणना से पहले दो दिसम्बर को मतगणना की पूरी रिहर्सल की जायेगी। तीनों विधानसभा क्षेत्र की गणना बनाए गये अलग-अलग कक्षों में होगी। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पंकज पटेल ने पुलिस प्रशासन की तैयारियों और अभ्यर्थी, उनके एजेंटों के आने-जाने के मार्ग एवं वाहन पार्किंग की जानकारी दी। उन्होंने अभ्यार्थी, निर्वाचन अभिकर्ता एवं गणना अभिकर्ताओं को आमंत्रित करते हुए कहा कि वह भी आकर व्यवस्था देखें कि कौन कहाँ से आयेंगे, ताकि उनके एजेंटों का भी रास्ते की जानकारी हो सकें। उन्होंने जानकारी दी कि नियुक्त गणना अभिकर्ता जिस विधानसभा के जिस टेबल के लिए नियुक्त होंगे वह उसके अलावा अन्य विधानसभा या अन्य टेबल पर नहीं जा सकेंगे। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार यथा प्रावधान राष्ट्रीय मान्यता प्राप्त दल, राज्य के मान्यता प्राप्त दल अन्य मान्यता प्राप्त दल एवं निर्दलीय अभ्यर्थियों की बैठक व्यवस्था रहेगी। उन्होंने सभी दलों से सहयोग की अपील की। मतदान समाप्ति के बाद निर्धारित प्रक्रिया के तहत कृषि उपज मंडी में बनाए गये स्ट्रांग रूम में ईवीएम को सुरक्षित रखा गया हैैं। अब त्रिस्तरीय सुरक्षा के बीच 3 दिसम्बर को सुबह बजे 8 बजे गोपनीयता बनाए रखने की शपथ के साथ मतगणना का काम शुरू होगा। सबसे पहले ईटीपीबीएस, डाक मतपत्र की गणना प्रारंभ होगी। गणना प्रारंभ होने के आधे घंटे बाद मशीनों (ईवीएम)से मता की गणना की प्रक्रिया शुरू होगी। तीन दिसम्बर को सुबह 7 बजे स्ट्रांग रूम खोले जायेंगे। इस दौरान पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी कराई जाएगी।
टेबलवार कंट्रोल यूनिट को स्ट्रॉंग रूम से क्रमबद्ध ढंग से सीसीटीवी/वीडियोग्राफी के निगरानी में गणना कक्ष में टेबलवार पहुंचाया जायेगा। मास्टर टेनर सुनील झा ने विस्तार से मतगणना प्रक्रिया की जानकारी से अभ्यर्थी, निर्वाचन अभिकर्ता एवं गणना अभिकर्ताओं को बताया। उन्होंने ईटीपीबीएस और डाक मतपत्र की गणना की भी जानकारी दी। बैठक में सीईओ जिला पंचायत एवं मतगणना प्रभारी श्रीमती लीना कमलेश मंडावी, अपर कलेक्टर एवं सम्पूर्ण कानून एवं सुरक्षा प्रभारी डॉ. अनिल बाजपेयी, सीएल मारकण्डेय, तीनों विधानसभा के रिटर्रिग ऑफिसर विश्वास राव मस्के साजा, सुश्री सुरूचि सिंह बेमेतरा, भूपेन्द्र जोशी, नवागढ़, उप जिला निर्वाचन अधिकारी उमाकांकन बंदे सहित तीनों विधानसभा क्षेत्र के अभ्यार्थी, निर्वाचन अभिकर्ता एवं गणना अभिकर्ता उपस्थित थे। मतगणना स्थल में त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था रहेंगी। पहली और बाहरी स्तर पर जिला पुलिस बल की तैनाती रहेंगी। द्वितीय और मध्य स्तर पर स्टेट आर्म फोर्स सुरक्षा करेंगी। तृतीय स्तर पर सशस्त्र सीमा सुरक्षा बल के हवाले सुरक्षा रहेंगी। सम्पूर्ण मतगणना क्षेत्र सीसीटीवी कैमरों के निगरानी में है। मतगणना तीसरी आँख (सीसीटीवी कैमरा) की निगरानी में होगी।
कलेक्टर श्री एल्मा ने कहा कि सभी पास धारियों से आग्रह किया कि वे अपना प्रवेश पास सुरक्षा कर्मियों को दिखे इस ढंग से गले में फीता अथवा शर्ट के पाकिट में पिन लगाकर सदैव रखें। पूरे मतगणना स्थल में मोबाइल, स्मार्ट वॉच, लैपटॉप, आईपेड, किसी भी तरह के इलेक्ट्रॉनिक गैजेट ले जाने की अनुमति नहीं होगी। प्रशासन की ओर से परिसर में उक्त सामग्रियों को रखने की कोई व्यवस्था नहीं है। ऐसे अधिकारी-कर्मचारी जिन्हें समय पर मेडिसिन लेनी होती हैं, वे अपने मेडिसीन साथ रख सकते हैं। मतगणना के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के लिए 16 टेबल लगाये जायेंगें। इनमें 14 टेबल 7-7 की दो कतारों में ईवीएम के लिए और दो टेबल पोस्टल बैलेट के लिए लगाये जायेंगे। हर टेबल में एक सुपरवाईजर और गणना सहायक होेंगे। मतगणना दल की नियुक्ति तीन बार रेंडमाइजेशन के बाद किया जाएगा। पहला रेंडमाइजेशन जिला निर्वाचन अधिकारी की उपस्थिति में दूसरा और तीसरा रेंडमाइजेशन ऑब्जर्वर की मौजूदगी में होगा।

Ashish Sinha

a9990d50-cb91-434f-b111-4cbde4befb21
rahul yatra3
rahul yatra2
rahul yatra1
rahul yatra

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!