छत्तीसगढ़देशराज्यरायपुर

छत्तीसगढ़ की संस्कृति का गौरव सुदूर अमेरिका में भी दमक रहा है

अमेरिका में भी तिजहारिनों ने खाया करु-भात : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा- छत्तीसगढ़ की संस्कृति का गौरव सुदूर अमेरिका में भी दमक रहा है

रायपुर, संयुक्त राज्य अमेरिका में बसे एवं प्रवास कर रहे छत्तीसगढ़ के लोगों ने लोकपर्व तीजा का धूमधाम से आयोजन किया। उन्होंने इस आयोजन की जानकारी और तस्वीरें मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के रायपुर स्थित निवास कार्यालय को भी भेजी हैं। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने अमेरिका में निवास कर रहे सभी छत्तीसगढ़ियों को पर्व की बधाई दी है। बघेल ने कहा है कि मुझे यह जानकर खुशी हुई कि छत्तीसगढ़ की संस्कृति का गौरव सुदूर अमेरिका में भी दमक रहा है।

छत्तीसगढ़िया लोगों ने वहां भी अपनी मिट्टी की खुशबू को सहेज कर रखा है। इसी आत्मगौरव और स्वाभिमान को जगाने के लिए सरकार पिछले पौने तीन वर्षों से लगातार काम कर रही है।
अमेरिका में नार्थ अमेरिकन छत्तीसगढ़ एसोसिएशन, ग्लोबल छत्तीसगढ़ कम्युनिटी (नाचा) भारत के बाहर भारतीय संस्कृति को बढ़ावा दे रहा है। इसी क्रम में हरतालिका तीज व्रत संयुक्त राज्य अमेरिका में पूरे विधि विधान से मनाया गया। नाचा के संस्थापक गणेश कर और दीपाली सरावगी ने अमेरिका में रहने वाले सभी छत्तीसगढ़ी परिवारों के लिए इस पूजा की मेजबानी की। श्री कर के घर करु भात का आयोजन किया गया, जिसमें सभी छत्तीसगढ़ी एनआरआई शामिल हुए।
सरावगी ने बताया है कि इस पर्व का आयोजन पहली बार किया गया। छत्तीसगढ़ी पारंपरिक पकवान ‘ठेठरी‘ ‘खुरमी‘ तैयार किया गया, इसके बाद मिट्टी और रेत से भगवान शिव बनाकर पूजा करते हुए आराधना की गई। अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इस तरह का आयोजन हर साल करने का निर्णय लिया गया है। तीज का यह कार्यक्रम शशि साहू, तिजेंद्र साहू, वंदना देडसेना, नमिता कैस्थ, सोनू जोशी, निर्मल साहू, लक्ष्मीन साहू और मुनीश कैस्थ, मीनल मिश्रा, अभिजीत जोशी, सरिता साहू, किरण पटेल, शत्रुघ्न बरेठ, रुक्मणी बरेठ, रोशनी साहू, अरेश साहू, संदीपन साहू आदि ने मिलकर आयोजित किया। नाचा की संयुक्त सचिव मीनल मिश्रा ने कहा कि दशकों बाद तीज पूजा में शामिल होना बहुत खुशी की बात है और यह परंपरा हमें हमारी मातृभूमि छत्तीसगढ़ से जोड़ेगी।

Tags

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!
Close
Close